पदभार ग्रहण करने पर अधिशासी अभियंता दिनेश चंद उनियाल ने उत्तराखंड स्पीकर से की शिष्टाचार भेंट ।। - Znews365 we believe in truth

Breaking

शनिवार, 3 अप्रैल 2021

पदभार ग्रहण करने पर अधिशासी अभियंता दिनेश चंद उनियाल ने उत्तराखंड स्पीकर से की शिष्टाचार भेंट ।।


Premchand Aggarwal



ऋषिकेश 3 अप्रैल। सिंचाई विभाग के सिंचाई खंड, देहरादून में अधिशासी अभियंता के पद पर पदभार ग्रहण करने के बाद आज अधिशासी अभियंता दिनेश चंद उनियाल ने उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेमचंद अग्रवाल से शिष्टाचार भेंट की।इस अवसर पर  श्री अग्रवाल ने  ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत तटीय इलाकों में बाढ़ से होने वाले नुकसान के लिए प्रस्तावित योजनाओं के संबंध में सिंचाई विभाग के अधिशासी अभियंता के साथ समीक्षा भी की।
          इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत गौहरीमाफी में बाढ़ सुरक्षा के संबंध में प्रस्तावित योजना की प्रगति के संबंध में जानकारी ली।जिस पर अधिशासी अभियंता ने विधानसभा अध्यक्ष को अवगत किया कि  टेक्निकल एडवाइजरी कमेटी की बैठक के बाद 9 करोड़ रुपए की गौहरीमाफी बाढ़ सुरक्षा योजना शासन को प्रेषित की गई है एवं योजना के लिए धनराशि स्वीकृति अंतिम चरण में है साथ ही इस माह के अंत में स्वीकृति की संभावना है जिस पर की शीघ्र ही निर्माण कार्य प्रारंभ होगा।
         अधिकारी ने यह भी बताया कि गोहरीमाफी में वैकल्पिक बाढ़ सुरक्षा हेतु प्राथमिक स्तर से तत्काल प्रभाव में 40 लाख रुपए आवंटित किए गए हैं जिसमें  इसी माह ले सोंग नदी पर बंदा बनाकर बाढ़ सुरक्षा कार्य किया जाएगा।
        इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने प्रस्तावित योजनाओं में साहब नगर बाढ़ सुरक्षा योजना, रायवाला नहर पुनरुद्धार योजना, गोहरीमाफी नहर पुनरुद्धार योजना, हरिपुर कला नहर पुनरुद्धार योजना एवं लकड़ घाट नहर योजना की प्रगति के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की।
         विधानसभा अध्यक्ष ने अधिकारियों को निर्देशित किया कि मानसून सत्र से पहले-पहले योजनाओं को प्रस्तावित कर धरातल पर बाढ़ सुरक्षा के कार्य प्रारंभ किए जाएं। श्री अग्रवाल ने कहा कि योजनाओं को प्रस्ताव की प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की कोताही न बरती जाए। श्री अग्रवाल ने विधानसभा क्षेत्र की सभी नहरों के  पुनर्निर्माण हेतु  हेतु प्रस्ताव शासन को प्रेषित करने के निर्देश दिए।वही श्री अग्रवाल ने कहा कि जब तक बड़ी योजना स्वीकृत नहीं होती मानसून से पहले छोटी-छोटी योजना बनाकर  प्रस्ताव बनाया जाए जिसके शीघ्र स्वीकृत होने पर बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में बाढ़ सुरक्षा संबंधी कार्य कराये जा सकें।इस अवसर पर सिंचाई विभाग के सहायक अभियंता अनुभव नौटियाल भी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: