Breaking

Translate News

Saturday, June 27, 2020

हर्षिल ईको पर्यटन समिति द्वारा वीर सैनिकों की याद में बनाई गई वालपेंटिंग ने सबका ध्यान किया आकर्षित


Harshil_Eco , znews365
Harshil_Eco

आज दिनांक २७/०६/ २० को सीमांत क्षेत्र के हर्षिल ग्राम सभा,उत्तरकाशी में चीन से चल रहे गतिरोध के  विरोध में और देश भक्ति के भाव को  परिलक्षित करने  के लिए हर्षिल ईको पर्यटन समिति, हरसिल ईको वॉरियर और ग्राम सभा हर्षिल के तत्वाधान में आज गलवान घाटी में शहीद हुए सैनिकों के सम्मान में एक कार्यक्रम का का आयोजन किया गया।
हर्षिल ईको पर्यटन समिति द्वारा वीर सैनिकों की याद में बनाई गई वालपेंटिंग ने सबका ध्यान आकर्षित किया। 


znews365 , harshil
znews365

जिसमें एक पेंटिंग में श्रीराम ड्रैगन को तीर मारते हुए दिखाए हैं, तो दूसरी पेंटिंग में गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों की वीरता को प्रदर्शित किया है। 
इन दोनों पेंटिंग्स के मध्य राष्ट्र ध्वज के साथ वीरगति को प्राप्त हुतात्मा सैनिकों के नाम  लिखे गए हैं। 
कार्यक्रम में उपला टकनोर के आठों गावों के ग्रामीणों एवम् भूतपूर्व सैनिकों द्वारा प्रतिभाग किया गया। उपस्थित लोगों ने दीप प्रज्वलित कर वीर सैनिकों को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। सभी भूतपूर्व सैनिकों का उपस्थित लोगों द्वारा सम्मान भी किया गया।
  समिति के सचिव गौरव रावत ने बताया कि हम लोग देश की सीमा के गावों में रहते हैं, हमारा कर्तव्य है कि हम अपने  वीर सैनिकों का मनोबल बढ़ाये,  उन्होंने बताया कि समिति द्वारा इस क्षेत्र में कूड़ा निस्तारण का कार्य भी हरसिल ईको वॉरियर्स के माध्यम से किया जा रहा है , जिसके अच्छे परिणाम सामने आ रहे हैं और अन्य गावों के लोग भी स्वयं के संसाधनों से इस कार्य को कर रहे हैं। श्री रावत ने बताया कि हम समिति के माध्यम से संस्कृति संरक्षण, नेलंग , जादुंग आदि सीमावर्ती गावों को पुनः आबाद करने एवम् पर्यटन से जुड़े अन्य मुद्दों की लगातार पैरवी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि  इससे ना केवल रोजगार सृजित होगा बल्कि सीमाओं की सुरक्षा में भी मदद मिलेगी।
 ग्राम प्रधान श्री दिनेश रावत के अनुसार  ये देश के लिए कठिन समय है और हमें एकजुट हो कर इसका मुकाबला करना होगा।
   कैप्टन सतल सिंह, एवरेस्टर  ने कहा कि 1962 के चीन युद्ध के बाद सीमा से खाली हुए गावों को वर्तमान हालात को देखते हुए सरकार को तुरंत फैसला लेते हुए   बसाना चाहिए।
कार्यक्रम में हर्षिल ईको वॉरियर के अध्यक्ष श्री गौरव रावत, पूर्व प्रधान  श्रीमती बसंती देवी, राज्य आंदोलनकारी डॉक्टर नागेन्द्र सिंह, बैगोरी की प्रधान श्रीमती सरिता देवी , आईबी के पूर्व अधिकारी श्री रतन सिंह, मुखवा, झाला, सुक्खी , धराली के ग्राम प्रधान, आईटीबीपी के सूबेदार श्री बालम दास, कमला देवी, ईश्वर सिंह, मोहन सिंह, , पूरन सिंह, मनोज नेगी, मुकेश नेगी आदि लोगों  ने प्रतिभाग किया। 
 पनधा आर्ट के उत्तम रावत, सुवेन्द्र लाल व सुभम गुसाईं ने वाल पेंटिंग का काम किया ।