Breaking

Translate News

Wednesday, March 4, 2020

तेजी से फैलने वाले कोरोना वायरस से आखिर कैसे बचाएं अपने परिवार को ??

निम्न उपाय आपको कोरोना वायरस से संक्रमित होने से बचा सकते हैं।। जानिए विस्तार से:- 


Baba-Ramdev, znews365
Baba-Ramdev

कोरोना का जो मूल कारण है कि आपकी इम्युनिटी यदि वीक है आपका रेस्पिरेटरी सिस्टम यदि वीक है तो आपके ऊपर एकदम से अटैक करके आपके रेस्पिरेटरी सिस्टम को फिर उसके बाद में आपके सर्कुलेशन सिस्टम को, आपके हार्ट और ब्रेन को यह ध्वस्त कर देता है। ऐसे में अभी तक बैक्टीरियल और वायरल इन्फेक्शन के लिए हमने दो तीन चीजों को सबसे ज्यादा प्रभावी पाया है चाहे वो डेंगू, चिकनगुनिया है, चाहे स्वाइन फ्लू है इनके ऊपर तो हम सफल प्रयोग कर चुके हैं। अभी कोरोना नया है तो गिलोय और इसके साथ तुलसी और काली मिर्च, हल्दी को उबाल करके यदि काढ़ा पिते हैं तो जो कोरोना के जितने भी लक्षण हैं उनके ऊपर तुरंत असर करती है, ज्वर को ठीक करती है और इम्युनिटी को बढ़ाती है। गिलोय किसी भी तरह के वायरस को खत्म करने में सबसे कारगर है इसलिए गिलोय, तुलसी, काली मिर्च और हल्दी जैसी घरेलु होम रेमेडी है वो इसके लिए जबरदस्त कारगर हैं।

तेजी से फैल रहा है कोरोना वायरस बचने के लिए अपनाएं यह सरल उपाय- कोरोना का जो मूल कारण है कि आपकी इम्युनिटी यदि वीक है...
Posted by Swami Ramdev on Tuesday, 3 March 2020

सबसे पहले प्राणयाम करके भस्त्रिका, कपालभाति और अनुलोम-विलोम, पूरा देश इनसे परिचित है इससे हमारी इम्युनिटी बूस्ट हो जाती है। जो बच्चे 6-7 साल के होते हैं और जिनकी उम्र 50-60 साल के ऊपर होती है उनके ऊपर इसका असर बहुत ज्यादा होता है और उससे मौत तक हो जाती है तो इम्युनिटी को बूस्ट करने के लिए प्राणयाम करें और गिलोय, तुलसी का काढ़ा पियें तो निश्चित रूप से हम इस बीमारी से लड़ सकते हैं। यह फैल ना पाए इसके लिए उपाय करने चाहिए क्योंकि हमें किसी वायरस को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए। लोगों को भीड़ वाली जगहों पर मास्क का प्रयोग करना चाहिए, इन्फेक्टेड लोगों से बचना चाहिए। जिसको भी सर्दी-जुकाम, कफ, छींक आना जितने भी यह भी एक वायरस से होता है तो उसके लिए गिलोय, तुसली और हल्दी अचूक औषधि है। हल्दी को तो दूध में भी उबाल कर ले सकते हैं और गिलोय, तुलसी, काली मिर्च और हल्दी का काढ़ा पूरे हिंदुस्तान के लोग पी सकते हैं।
प्रतिरक्षा तंत्र, इम्युनिटी को स्ट्रांग करने के लिए सबसे अच्छा है तीन प्राणयाम जो सब घर, ऑफिस में, कहीं पर भी कर सकते हैं तो होने से पहले कर लें तो होगा ही नहीं और यदि हो भी गया सर्दी-जुकाम और मैं तो कहता हूँ कोरोना का अटैक भी हो गया तो भी कीजिये ये भस्त्रिका प्रणायाम, कपालभाति और अनुलोम- विलोम। यह तीन प्राणयाम जरूर करें, डॉ नरेश त्रेहन जी ने भी जैसे बताया वह भी इस बात को मानते हैं कि प्राणायाम से इम्युनिटी तो बढ़ती ही है हमारा रेस्पिरेटरी सिस्टम भी सबसे ज्यादा स्ट्रांग प्राणायाम से ही होता है, तो यह जरूर करना चाहिए, एक ट्रीटमेंट के तौर पर भी हम इनको अपना करके इन बीमारियों से लड़ सकतें हैं, बच सकते हैं।
मैंने कहा, मैं तो खुद इस कोरोना वायरस का जो बहुत ज्यादा कहर बरप रहा है उस दौरान पूरे दो-तीन देशों की यात्रा करके ऑस्ट्रेलिया से वापस लौटा हूँ तो मुझे कुछ नहीं हुआ आगे- पीछे काफी लोग छींक रहे थें एक बार तो ऐसा हुआ में ऑस्ट्रेलिया में बैठा हुआ था मेरे पीछे वाला वो आधे घंटे तक खांसता रहा, छींकता रहा और चारो तरफ प्लेन में हड़कंप मचा हुआ था मैं आराम से बैठा हुआ था। किसी को सर्दी-जुकाम हो गया, हर सर्दी-जुकाम को आप कोरोना वायरस मान ले तो यह गलत है। आप अफवाहों से भी बचे यद्यपि वह भी संक्रमण से होने वाली बीमारी है, किसी को भी जुकाम है तो उससे किसी को भी हो सकता है, एक परिवार में भी एक दूसरे से हो सकता है, तो हर सर्दी-जुकाम को कोरोना ना माने और अपने आप को इस बात के लिए तैयार रखें की हमारी इम्युनिटी स्ट्रांग हो और यह सच है की कम से कम जिन देशों में इस वायरस का प्रकोप है, उनसे जो लौट करके आए है उन लोगों से बचाव में सावधानी रखें। सामान्य सर्दी-जुकाम में डॉक्टर के पास जाने की जरूरत नहीं है, सदीयों है हम अपने आप को प्रोटेक्ट करते आए हैं इन प्राकृतिक तत्वों से इसलिए मैं 100 प्रतिशत इस बात को कह रहा हूँ की सर्दी-जुकाम, बुखार सामान्य होने पर आप गिलोय, तुलसी, हल्दी और काली मिर्च का काढ़ा बना करके पी सकते हैं और आपने आप को स्वस्थ रख सकते हैं। हमने लाखों लोगों को इस उपाए से बचाया है।
#HealthTips #Coronavirus #Yoga